Tuesday, October 19, 2010

खेल से पहले 'आई लव यू' खेल के बाद कुबूल है


खेल हुए ख़तम पैसा हुआ हज़म- 
खेल के बाद यही सुनायी आ रहा है,
खेल मंत्रालय, कांग्रेस और तो और साथ में 
खुद कलमाडी भी तो यही गा रहा है!
कि-  
खेल से पहले 'आई लव यू' खेल के बाद कुबूल है,
पल्ला झाड के बाद में बोला भारी हुयी भूल है!
उखाड़ना चाहते हो तो उखाड़ लो, लेकिन क्या उखाड़ोगे?
इसीलिये हमने गाड़े नहीं तम्बू, बोलो अब क्या फाड़ोगे?
ज्यादा से ज्यादा कमेटी की रिपोर्ट आयेगी,
और वो भी किसी रिटायर से लिखाई जायेगी.
उसके बाद मामला अदालत में चलेगा-
हां तब फिर देखा जायेगा - 
लेकिन दोस्त तबतक इलेक्शन भी तो आ जाएगा.

No comments:

कहानी पूरी फिल्मी है।

क़रीब कोई बीस साल पहले की बात है। एक देश में एक परिवार पापड़ बनाकर बेचता था। उनके दिन बहुत गरीबी में बीत रहे थे। फ़िर उन्हें उनके पड़ोसी ने बत...