Wednesday, January 27, 2010

ये सूरत सांवली-सलोनी अति विधाता ने जो दीन्ही है...

ये सूरत सांवली-सलोनी अति विधाता ने जो दीन्ही है,
गोरी बनने  को मुख पाउडर लगावेंगी.
पहनेगी ऊँची हील की सैंडिल,
लगाके क्लिप बालों में नागिन सी बनजावेंगी.
घूमेंगी अमीनाबाद हज़रत महल पार्क,
गुड एंड शाक कहकर हांथ मिलावेंगी.
कहें 'शिशु' कल को यही सुंदरियाँ अपने को
विश्व सुन्दरी कहालावेंगी.

1 comment:

अरविन्द चतुर्वेदी Arvind Chaturvedi said...

अच्छी लगी आपकी रचना.
शुभकामनायें