Sunday, June 13, 2010

हम दोनों ने रिश्वत दी थी तभी नौकरी पाए.

मैं भी कोटे में आता हूँ, तू भी कोटे में आता,
मैं भी रिश्वत हूँ खाता, तू भी रिश्वत है खाता.

रिश्वत देकर दसवीं में मैंने नंबर बढवाए,
तेरे बाबूजी भी तो सुन पैसे देकर आये.

हमदोनों ने नक़ल साथ की, तब बीए. में आये,
और हम दोनों ने रिश्वत दी थी तभी नौकरी पाए.

रिश्वत देकर मिली नौकरी, रिश्वत की करता पूजा,
बातें रिश्वत की ही करता काम नहीं करता दूजा.

तूने भी पक्का मकान इस रिश्वत से बनवाया,
दो ही साल हुए हैं तुझको एसी कार तू लाया

तूने शादी की तो दहेज़ में एसी कार है पायी
मेरी बीबी भी दहेज़ में पांच लाख घर लायी

इसीलिये अबसे हमदोनों कोटे की बात उठाएंगे
अगर उठाई बात नहीं तो बच्चे ना पढ़ पायेंगे.